08 June’Eta- Suicide due to harassment of usurper Dabang

एटा जनपद में सूदखोरों का कहर रुकने का नाम नही ले रहा है ताजा मामला थाना जैथरा क्षेत्र का मामला सामने आया है जहाँ भोले भाले किसानों की जमीनों को व्याज के बदले रुपये देने के एवज में औने पौने रुपयों में किसानों की बेश कीमती जमीन गिरवी रखकर सूदखोर मालामाल हो रहे है, और पीड़ित किसानों की बंधक जमीन को जबरन कब्जा कर रहे हैं। एक ऐसे ही मामले में एटा जनपद के जैथरा थाना छेत्र में सूदखोर के उत्पीड़न से तंग आकर उधार लिए रुपयों से दोगुना से अधिक सूदखोर को जमा करने के बाद भी अपनी जमीन गंवा चुके है उसके बाद भी सूदखोर उत्पीड़न करने से बाज नही आ रहा था और गरीब किसान को धमकाते हुए ब्याज सहित रुपये जमा करने का दबाब बनाया जिसमें मृतक किसान ने दबाब में आकर आत्म हत्या कर ली। इस मामले की रिपोर्ट मृतक किसान संतोष कुमार की पत्नी शीला देवी ने थाना जैथरा में तीन सूदखोरों के खिलाफ FIR दर्ज कराई है।

मामला एटा जनपद के जैथरा थाना छेत्र के ग्राम उदयपूरा का है जहाँ गाँव उदयपुरा के रहने वाले गरीब किसान संतोष कुमार ने कुछ वर्ष पूर्व सूदखोरी का काम करने वाले वीरेंद्र मिश्रा, अनुज मिश्रा, मनोज मिश्रा से खेती के लिए 45000/ पैतालीस हजार रुपये ब्याज पर लिए थे जिसके बंधक के रूप से सूदखोरों ने किसान की जमीन और उसके कागज रख लिए थे, वही गरीब किसान से इन सूद खोरों ने धीरे धीरे 45000/ रुपये के दो गुने 90,000/ रुपये मय ब्याज के जमा भी करवा लिए और जब किसान अपना खेत वापस मांगने गया तो उसको भगा दिया और उसके खेत पर कब्जा कर लिया, उसके बाद दबंग सूदखोरों ने किसान को धमकाकर उसकी बंधक रखी जमीन का जबरन इकरारनामा अपने नाम करवा लिया। इसके बाद 4 दिन पूर्व दबंग सूदखोरों ने उक्त किसान की जमीन पर जबरन कब्जा करके खेत जोत लिया और किसान विरोध करने पहुंचा तो उसको भयभीत करके भगा दिया, अपनी जमीन छिन जाने से किसान को बहुत बड़ा आघात लगा और वो परेशान और गुम शुम रहने लगा और अंत मे उक्त तीनों सूदखोरों की प्रताड़ना से परेशान होकर किसान संतोष कुमार ने विषाक्त पदार्थ खा कर आत्म हत्या कर ली, किसान के आत्म हत्या कर लेने से पूरे परिवार में कोहराम मच गया, मृतक किसान की पत्नी शीला देवी ने उक्त तीनों सूदखोरों के खिलाफ एटा जनपद के जैथरा थाने में एफआईआर दर्ज कराई है। घटना के बाद से ही तीनो सूद खोर फरार हो गए हैं।

रिपोर्ट- आर.बी.द्विवेदी एटा।


Monika

By Monika

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *