चिकित्सा विभाग को भ्रष्टाचार मुक्त कराए जाने को प्रेषित किए मांग पत्र।

मुख्य चिकत्साधिकारी का स्थानान्तरण होने पर किया मिष्ठान्न वितरण।

खाद्य सुरक्षा एवं आपूर्ति विभाग के विरुद्ध दीर्घ कालिक आन्दोलन की बनी योजना।

भ्रष्टाचार मुक्ति अभियान के तत्वावधान में चिकित्सा विभाग बदायूं में व्याप्त भ्रष्टाचार एवं भ्रष्ट अधिकारियों के विरुद्ध गत एक माह से चल रहे अभियान के अंतिम चरण में अभियान के समस्त पदाधिकारी मुख्यालय पर एकत्र हुए।

समस्त सुचना कार्यकर्ताओं व पदाधिकारियों द्वारा देश के राष्ट्रपति, उप राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री , केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री एवं प्रदेश के राज्यपाल, मुख्यमंत्री, स्वास्थ्य व परिवार कल्याण मंत्री, मुख्य सचिव, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण को डाक के माध्यम से चिकित्सा विभाग बदायूं में व्याप्त भ्रष्टाचार एवं भ्रष्ट अधिकारियों के विरुद्ध कार्यवाही की मांग को लेकर मांगपत्र प्रेषित किए। इस अवसर पर खाद्य सुरक्षा एवं आपूर्ति विभाग में व्याप्त भ्रष्टचार के विरुद्ध दीर्घ कालिक आन्दोलन की रणनीति बनाई गई।

साथ ही मुख्य चिकित्साधिकारी बदायूं के स्थानांतरण पर हर्ष व्यक्त करते हुए मिष्ठान्न वितरण किया।

मुख्य प्रवर्तक हरि प्रताप सिंह राठोड़ एडवोकेट ने कहा कि मुख्य चिकित्सा अधिकारी बदायूं का स्थानांतरण संगठन की बड़ी जीत है, जनपद बदायूं को एक भ्रष्ट अधिकारी से मुक्ति मिली है। भ्रष्ट अधिकारियों के विरुद्ध संघर्ष निरंतर जारी रहेगा। सभी कार्यकर्ता एवं पदाधिकारी खाद्य सुरक्षा एवं आपूर्ति विभाग के विरुद्ध दीर्घ कालिक आन्दोलन के लिए तैयार रहें।

इस अवसर पर प्रमुख रूप से एम एल गुप्ता, सुरेश पाल सिंह, डॉ राम रतन सिंह पटेल, रामगोपाल, पवन शंखधर, एम एच कादरी, सतेंद्र सिंह, अखिलेश सिंह, आर्येंद्र पाल सिंह, अजय पाल, नेत्र पाल, भुवनेश कुमार, बदन सिंह, बेंचेलाल, अवनीश कुमार आदि उपस्थित रहे।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *