रिपोर्ट – NIRDOSH SHARMA 9456203049

बदायूँ। कछला के भागीरथी तट ज्येष्ठ की अमावस्या पर लाखों श्रद्धालुओं ने मां गंगा में हर-हर गंगे, निर्मल गंगे के जयघोष के साथ स्नान कर सूर्य नारायण को अघ्र्यदान दिया। देवकन्याओं को दान दक्षिणा भी दी।
ब्रह्ममुहुर्त में स्नान का पुण्य लाभ लेने के लिए उत्तर प्रदेश के अलावा मध्य प्रदेश, राजस्थान, उत्तराखंड आदि के श्रद्धालु बुधवार की शाम से कछला के भागीरथी तट पर पहुंचना शुरू हो गए। श्रद्धालुओं ने हर-हर महादेव के जयघोष के साथ ब्रह्ममुहुर्त में ही पतित पावनी मोक्षदायिनी मां गंगा में स्नान करना शुरू कर दिया। श्रद्धालुओं ने स्नान के बाद सूर्य नारायण भगवान को अघ्र्यदान दिया। शक्तिस्वरूपा देवकन्याओं को दही, जलेवी, पुड़ी सब्जी खिलाकर दान दक्षिणा भी। मनोकामना पूर्ण होने पर श्रद्धालुओं ने मां गंगा की साड़ियों से पहनान की। दूध, मिष्ठान और मेवाओं से भोग भी लगाया। तट पर श्रद्धालुओं ने अपने बच्चों के मुंडन संस्कार भी कराएं।

श्रद्धालुओं ने जमकर खरीददारी भी की। चाट, पकौड़ी का आनंद भी लिया। गंगा स्नान के दौरान श्रद्धालुओं ने खासा सावधानी बरती। अधिकांश श्रद्धालु लाॅकडाउन का पालन करते दिखे दूरी बनाने के साथ मास्क लगाते नजर आए।
कछला के भागीरथी तट पर गंगा में सुबह से श्रद्धालुओं ने स्नान करना शुरू कर दिया। इसके बाद श्रद्धालुओं ने मां गंगा को इलायची दाने, बतासे और लड्डू आदि चढ़ाकर विशेष पूजा अर्चना की।

कछला के भागीरथी तट पर सुबह से ही तेज हवाएं चलना शुरू हो गईं। चारों ओर धुंध जैसी छाई रही। आधे घंटे के बाद हल्की बरसात हुई। जिसके बाद मौसम सामान्य हो गया। बादल उमड़ते-घुमड़ते रहे श्रद्धालुओं को तेज धूप से राहत मिली।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *