लखनऊ: यूपी विधानसभा का बजट सत्र 18 फरवरी से शुरू हो रहा है. बजट को लेकर प्रदेश के वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने कहा कि इस बार कोशिश है कि बजट को रिप्लेस किया जाए और ये पिछली बार के बजट से बड़ा भी होगा. उन्होंने कहा कि बजट कितना बड़ा होगा ये अभी नहीं बता सकते हैं. विधायकों को टैबलेट खरीदने के लिए कहा गया है. विधायक 50 हजार तक की धनराशि का टैबलेट खरीद सकते हैं.

पेपरलेस होने की तैयारी
बता दें कि, केंद्र सरकार के पेपरलेस बजट के बाद योगी सरकार भी पेपरलेस होने की तैयारी कर रही है. विधानसभा के बजट सत्र में यूपी सरकार वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए बजट पेश करेगी. ये सरकार का पांचवां और इस कार्यकाल का आखिरी पूर्ण बजट होगा. इस बार यूपी का बजट 5 लाख 50 हजार करोड़ से अधिक का हो सकता है.

किसानों और युवाओं पर होगा फोकस
यूपी सरकार 19 फरवरी को वित्तीय वर्ष 2021- 22 का बजट सदन में पेश करेगी. माना जा रहा है कि इस बार के बजट में किसानों और युवाओं पर खास फोकस रहेगा. किसानों के लिए ड्रिप इरिगेशन को लेकर बजट में बड़े एलान हो सकते हैं. इसके अलावा पुलिस मॉडर्नाइजेशन के लिए गृह विभाग को भी अधिक बजट दिया जा सकता है.

स्किल डेवलपमेंट पर रहेगा ध्यान
जल शक्ति मंत्रालय के बजट में इस बार भारी भरकम इजाफा होने के साथ ही स्किल डेवलपमेंट को लेकर सरकार बजट में विशेष प्रावधान कर सकती है. कौशल विकास विभाग के साथ-साथ युवाओं के स्किल डेवलपमेंट को लेकर भी बजट में खास फोकस रहेगा. बीते वित्तीय वर्ष में 5 लाख 12 हजार करोड़ों का बजट पेश हुआ था.


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *