Etawah: Accused of injuring himself by shooting himself trapped in a conspiracy to implicate the opposition

वरिष्ठ POLICE अधीक्षक डाॅ बृजेश कुमार क निर्देशन में इकदिल POLICE ने जानलेवा हमले का खुलासा करते हुए चार लोगों को गिरफ्तार किया है। जिसमें बताया गया कि गोली लगने से घायल युवक ने साजिश के तहत स्वयं के पैर में गोली मरवाई थी। जिससे विपक्षी लोगों को फंसाया जा सके। पुलिस ने मुठभेड के बाद चारों को दबोच लिया।
इकदिल थाना क्षेत्र के अंतर्गत जयभारत कालोनी निवासी राजकमल उर्फ राजू तोमर ने पुलिस को 1 जून 2021 को सूचना दी थी। जिसमें बताया गया था। उनके पुत्र सत्यम तोमर को कुछ लोगों ने गोली मारकर घायल कर दिया। पुलिस ने तहरीर के आधार पर अजय राजपूत समेत तीन के खिलाफ मामला दर्ज कर इस मामले की जांच शुरु की। जांच के दौरान पुलिस टीम को साक्ष्यों द्वारा मिली जानकारी के अनुसार घटना संदिग्ध प्रतीत हुई एवं पुलिस टीम द्वारा घटना के संबंध में और अधिक गहनता से जांच की गई । जांचोपरांत घटना पूर्ण रूप से संदिग्ध पायी गयी तथा सीसीटीवी कैमरे के माध्यम से पुलिस द्वारा घटना में संलिप्त व्यक्तियों की पहचान की गई । जिनकी गिरफ्तारी हेतु पुलिस टीम द्वारा निरंतर दबिश दी जाने लगी । पुलिस के द्वारा मुखबिर की सूचना पर ग्वालियर बाईपास रोड पर नवनिर्मित दुकान के पास से चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया। पूछताछ में उन्होने अपने नाम अंकित यादव उर्फ नितिन उर्फ फौजी पुत्र रामचन्द्र निवासी ब्रह्मनगर कालोनी थाना कोतवाली जनपद इटावा ,आरजू पुत्र बलजीत सिंह निवासी जयभारत कालोनी थाना फ्रेंड्स कालोनी इटावा ,विकास पुत्र शिवकुमार राजपूत निवासी जयभारत कालोनी ,रीशू ठाकुर पुत्र रामभान सिंह भदौरिया निवासी साईं बिहार कालोनी थाना कोतवाली बताया। पुलिस ने जामा तलाशी के दौरान के उनके पास से एक पिस्टल एक जिंदा कारतूस बरामद किया है। पुलिस पूछताछ के दौरान पकडे गए अंकित यादव उर्फ नितिन उर्फ फौजी ने बताया कि घायल सत्यम तोमर का 25 मई 2021 को मोबाइल के रुपयों के लेन देन को लेकर अजय राजपूत एवं उसके भाइयों से झगडा हुआ था। उसे फंसाने के लिए साजिश रची गई। पुलिस ने सत्यम, अंकित यादव, आरजू, विकास, रीसू ठाकुर के विरूद्ध कार्रवाई की है।

इटावा से शारिक अंसारी की रिपोर्ट


Monika

By Monika

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *