Government may take some important decisions by taking the UP Board’s Class X examination

UP बोर्ड के परीक्षाएं 24 अप्रैल से होनी थी. लेकिन कोरोना के चलते अब इन परीक्षाओं का आयोजन मुश्किल लग रहा है.सरकार अब छात्रों के हित के लिये बड़ा फैसला लेने का मन बना चुकी है.
प्रदेश में यूपी बोर्ड 10वीं के छात्र छात्राओं को बिना परीक्षा ही प्रोमोट करने की पूरी संभावना है. माध्यमिक शिक्षा परिषद की तरफ से 10वीं के छात्र छात्राओं के छमाही और Pre board के अंक Website पर Upload करने के निर्देशों के बाद इसके और कयास लगाए जा रहे हैं. सूत्रों की माने तो जल्द इसकी आधिकारिक घोषणा हो सकती है.
CORONA के चलते CBSE और ICSE की तर्ज पर यूपी बोर्ड की परीक्षाएं निरस्त हो सकती हैं. परीक्षा निरस्त कर छात्र छात्राओं को Promote किया जा सकता है. यूपी बोर्ड की परीक्षाएं 24 अप्रैल से शुरू होनी थी. लेकिन कोरोना के चलते इन्हें स्थगित कर दिया गया. यूपी बोर्ड विश्व का सबसे बड़ा एजुकेशन बोर्ड है. इस साल ही यूपी बोर्ड 10वीं में 29,94,312 छात्र छात्राएं परीक्षा के लिए पंजीकृत हैं. इनमे 16,74,022 छात्र और 13,20,290 छात्राएं पंजिकृत हैं. अब इनको Promote करने की संभावना है.
माध्यमिक शिक्षा परिषद, प्रयागराज के सचिव दिव्यकान्त शुक्ल ने प्रदेश के सभी जिला विद्यालय निरीक्षक (DIOS) को निर्देश दिए हैं. सभी से कहा गया है कि 10वीं के छात्र छात्राओं के 2020-21 के छमाही और प्री बोर्ड परीक्षाओं के अंक 18 मई की शाम तक हर हाल में पोर्टल पर अपलोड किए जाएं. सभी प्रिंसिपल को विषयवार प्राप्तांक और पूर्णांक परिषद की वेबसाइट upmsp.edu.in पर अपलोड करने हैं. सचिव ने अपने पत्र में इस बात का भी ज़िक्र किया है कि इसके लिए उच्च स्तर से निर्देश दिए गए हैं. अगर किसी विद्यालय की सूचना अपलोड नहीं हुई तो DIOS ज़िम्मेदार होंगे.


Monika

By Monika

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *