In the case of cheating and fraud, the wanted criminal of 20 thousand absconding for 6 years came in the custody of the police

मुरादाबाद पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी कूटरचना मुरादाबाद के थाना सिविल लाइन अंतर्गत वादी कमर अली पुत्र फारुख खाँ निवासी जिगर कॉलोनी थाना सिविल लाइन ने वर्ष 2015 में अपने साथ हुई धोखाधड़ी ठगी व कूट रचना जैसी संगीन धाराओं में मोहल्ला दौलत बाग थाना नागफनी निवासी मो० अब्दुल कदीर पुत्र बाबू हुसैन के नाम एक FIR दर्ज कराई थी।
जिसमें वादी ने आरोप लगाया था की उक्त अभियुक्त कदीर नागफनी थाना अंतर्गत अपने बेटे इमरान के नाम से ज्वैलरी की दुकान चलाता है और किस्तों पर भी ज्वैलरी तैयार कराता है इस पर उक्त वादी कमर अली व उसके साले फहीम व राशिद आदि ने सम्पर्क किया तो उक्त अभियुक्त की मीठी मीठी बातों व झांसे में आकर लगभग 19 लाख 5 हजार रुपए ज्वेलरी तैयार करने हेतु दे दिए लेकिन जब नियत समय पर पहुँच कर देखा तो पाया कि उनके साथ ठगी हो गयी है अभियुक्त दुकान बन्द कर फरार हो चुका है।
इस पर पुलिस पड़ताल में मालूम हुआ कि उक्त अभियुक्त ने शहर व आसपास के लगभग 10-11 लोगों के साथ अमूनन एक करोड रुपए की ठगी कर चंपत हुआ है।
जिसमें सहअभियुक्त गुड्डू उर्फ जावेद पुत्र बाबू हुसैन निवासी दौलत बाग थाना नागफनी को जांच उपरांत ठगी ,चार सौ बीसी व कूट रचना जैसी संगीन धाराओं में तत्काल प्रभाव से जेल भेज दिया।
जबकि मुख्य अभियुक्त की कुर्की आदेश उपरांत गिरफ्तारी हेतु बीस हजार का इनाम घोषित था पुलिस टीमें काफी समय से उसकी तलाश में जुटी थी।
पुलिस के अथक प्रयास से 6 साल बाद मुख्य अभियुक्त अब्दुल कदीर पुत्र बाबू हुसैन को पंजाब प्रांत से धर दबोचा गया जहां वह भेष बदल कर कबाड़ी का काम कर रहा था जांच पड़ताल के बाद अभियुक्त को जेल भेजा गया।

मुरादाबाद से कपिल अग्रवाल और गिरीश यादव के साथ सुमित कुमार की रिपोर्ट


Monika

By Monika

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *