Incidents of kidnapping of minor girls are not stopping, Penny Nazar organization opens its front

थाना उझानी जनपद बदायूं दबंगों ने जिला बदायू थाना उझानी ग्राम मीलाला नगला के निवासी दिनेश पुत्र द्वारकी यादव की नाबालिग पुत्री का अपहरण 18/04/2021 को रात्रि लगभग नौ बजे ग्राम के ही शिवम यादव पुत्र सत्येंद्र यादव व उसका चाचा अनिल कुमार पुत्र भगवान सिंह उठा कर ले गए । नाबालिग की उम्र मात्र 13 वर्ष है ।पीड़ित परिवारीजनो ने काफी तलाश किया किंतु बच्ची का पता नही मिल पाया । बच्ची के न मिलने पर पीड़ित पिता ने थाना उझानी में तहरीर दी । तहरीर देने के उपरांत पुलिस एक बार मौके पर आई पुलिस ने पिछले दिनों जयपुर में दबिश दी तो शिवम यादव पुत्र सत्येंद्र पिंकी को लेकर फरार हो गया लेकिन मददगार तक बृहस्पतिवार को पुलिस पहुंच गई पुलिस ने उसे दोपहर में दबोच लिया किशोरी के बारे में तो उसने पुलिस को अहम सुराग दे दिया है लेकिन शिवम पिंकी को लेकर पुलिस उलझन में पड़ गई है करीब 1 महीने पहले काम के युवक के साथ लापता किशोरी के मामले में किशोरी के पिता की ओर से कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज है परिवार को किशोरी के पिता ने डीएम को पत्र भेजकर बेटी की बरामदगी की गुहार लगाई है इधर प्रभारी निरीक्षक विशाल प्रताप सिंह ने बताया कि किशोरी को बरामद की के लिए पूरी कोशिश की जा रही है एक युवक से पूछताछ भी की गई है किशोरी के बरामद होने की उम्मीद है पता चला था की जयपुर में शिवम है लेकिन पुलिस नाकाम रही पकड़ने में उसके बाद पुलिस ने अब तक कोई कार्यवाही नहीं की नाबालिग बच्ची आज भी दबंगों के चंगुल में है ।पीड़ित पिता थाने के चक्कर लगा लगा कर थक चुका पर पुलिस को इस पर रहम नही आया ।पुलिस ने पीड़ित की एफआईआर तो दर्ज कर ली है लेकिन कार्रवाई नहीं हो रही है । एक महीने भटकने के पश्चात एक प्रार्थना पत्र डी आई जी को देने पीड़ित माता पिता बरेली पहुंचा वहा भी डी आई जी से नहीं मिलने दिया और गेट पर ही प्रार्थना पत्र ले लिया वहीं दूसरी तरफ एडीजी को भी देने पीड़ित माता-पिता पहुंचे कोई प्रार्थना पत्र लेने वाला नही था । और गेट पर ही ले लिया जाता है उसके पश्चात निराश होकर पीड़ित पिता ने पैनी नजर सामाजिक संस्था से संपर्क किया । संस्था अध्यक्ष एड सुनीता गंगवार अपने बरेली प्रदेश कार्यालय पर थी वही से वो पीड़ित पिता से मिलने गए
बता दे कार्यालय के सामने पहुंची पहुंचकर पीड़ित माता पिता की दर्द भरी दास्तां सुनी उन्हें हिम्मत बंधाई ।संस्था अध्यक्ष ने कहा इस तरह रोज नाबालिग बेटियों के उत्पीड़न की घटनाएं संस्था के पास आ रही है । संस्था अध्यक्ष एड सुनीता गंगवार ने कहा कि एक तो माता पिता दबंगों के उत्पीड़न से उत्पीड़ित है दूसरे पीड़ित माता पिता का पुलिस द्वारा उत्पीड़न होता है ।पुलिस प्रशासन पीड़ित को ही धमकाता है और दबंगों का साथ देता उनका संरक्षण करता है लगभग सभी थानों में पुलिस का रवैया एक सा रहता है । संस्था अध्यक्ष ने कहा कि प्रदेश सरकार बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान चला रही है ।सरकार बताए की किस तरह बेटी पढ़ाए और किस तरह बेटियों को बचाएं ।दबंगों से बचाए कि पुलिस से बचाए साथ ही सरकार ये भी बताए की पुलिस प्रशासन नागरिकों की सुरक्षा के लिए है या पीड़ितों का उत्पीड़न करने के लिए है । संस्था अध्यक्ष एड सुनीता गंगवार ने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर पुलिस ने अपहृणक्रताओ का जल्द गिरफ्तार नही किया तो संस्था पुलिस प्रशासन की दूषित कार्यवाही के खिलाफ एक बड़ी मुहिम छेड़ेगी

रिपोर्टर लवकेश कुमार गुप्ता / रामू सिंह


Monika

By Monika

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *