Lord Parashuram did injustice, wrongdoing and destruction of sins with renewable power.

गायत्री परिवार शांतिकुंज हरिद्वार के मार्गदर्शन में चल रहे प्रखर बाल संस्कारशाला के कैंप कार्यालय पर भगवान परशुराम जयंती धूमधाम के साथ मनाई गई। देवकन्याओं ने लोकनृत्य और लघुनाटिकाएं प्रस्तुत कीं।
गायत्री परिवार के संजीव कुमार शर्मा ने कहा कि भगवान परशुराम ने अक्षय शक्ति से अन्याय, अधर्म और पापकर्मों का विनाश किया। ऋषि-मुनियों और श्रेष्ठजनों की रक्षा, धर्म की स्थापना कर दृढ़ संकल्प को पूरा किया।
भगवान श्रीराम-माता सीता, भगवान श्रीकृष्ण-माता राधा के रूपों में सजे बच्चे आकर्षण का केंद्र रहे इसी क्रम में लोकनृत्य की शानदार प्रस्तुति दी गई. इसके साथ ही सर्वश्रेष्ठ बच्चों को सम्मानित भी किया गया।

बदायूं से संवाददाता निर्दोष शर्मा की रिपोर्ट


Monika

By Monika

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *