On the death of an elderly in Meerut Medical College, the High Court said …..

यूपी के ग्रामीण इलाकों में corona ने तेजी से अपने पैर पसार लिए हैं. गांवों में तेजी से संक्रमण फैलने पर इलाहाबाद हाईकोर्ट ने भी चिंता जाहिर की है. इससे जुड़ी एक याचिका पर सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने योगी सरकार पर तल्ख टिप्पणी की है. High Court ने कहा कि उत्तर प्रदेश के गांवो, छोटे कस्बों मे चिकित्सा सुविधाओं की स्थिति “राम भरोसे” है.

अदालत ने ये टिप्पणी Meerut के मेडिकल कालेज से लापता 64 साल के बुजुर्ग संतोष कुमार के मामले में की है. दरअसल, संतोष कुमार की अस्पताल के बाथरूम में गिरकर मौत हो गई थी. duty पर तैनात doctors व Staff ने उनकी पहचान करने के बजाय उनके शव को अज्ञात में डाल दिया था.

अदालत ने कहा कि जब मेडिकल कॉलेज वाले मेरठ जैसे शहर का यह हाल है. तो समझा जा सकता है कि छोटे शहरों और गांवों के हालात भगवान भरोसे ही हैं. court ने इस मामले में की गई कार्रवाई को भी अपर्याप्त बताया. कोर्ट ने कहा कि इस मामले में डॉक्टर्स व पैरामेडिकल स्टाफ का रवैया गंभीर कदाचार यानी सीरियस मिस कंडक्ट की तरह है
उधर, प्रदेश में कोरोना के मामलों में तेजी से कमी देखी जा रही है. बीते 24 घंटे के दौरान यहां कोरोना के 9391 नए मरीज मिले हैं. इसके अलावा 285 लोगों की मौत भी हुई है.


Monika

By Monika

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *