Prayagraj: 2800 death certificate issued, 50 days heavy in corona’s second wave

बीते साल के मुकाबले इस साल ज्यादा डेथ सर्टिफिकेट जारी किए गए हैं. अकेले नगर निगम से इस साल कुल मिलाकर 2,819 Death certificate जारी किये गए. इनमें से आधे से ज्यादा पिछले 50 दिनों में ही जारी हुए.
corona की दूसरी लहर जहां पहले के मुकाबले ज्यादा जानलेवा साबित हो रही है, वहीं इसकी वजह से तमाम दूसरी बीमारियों का इलाज न होने से बड़ी संख्या में लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है. आम दिनों से तुलना करें तो अप्रैल और मई महीने में मरने वालों की संख्या तीन से चार गुना तक बढ़ी है. प्रयागराज में भी यह आंकड़ा तकरीबन इसी रफ्तार से बढ़ा है. मौतों का आंकड़ा बढ़ने की बात को अलग-अलग जगहों से जारी किये जाने Death certificate की संख्या से भी समझा जा सकता है.
प्रयागराज में अकेले नगर निगम से इस साल कुल मिलाकर 2,819 Death certificate जारी किये गए. इनमें से आधे से ज्यादा पिछले 50 दिनों में ही जारी हुए हैं. मई महीने के तीसरे हफ्ते के 264 आवेदन अभी पेंडिंग हैं. गौरतलब है कि पिछले साल अप्रैल महीने में इस जोन से सिर्फ 6 Death certificate जारी हुए थे, जबकि इस साल अप्रैल महीने में 38 certificat जारी हुए. इसी तरह यहां पिछले साल मई महीने में यहां से 31 Death certificate जारी हुए, जबकि इस साल पंद्रह मई तक ही 67 प्रमाण पत्र जारी हो चुके हैं. यानी मई महीने का आंकड़ा भी चार से पांच गुना बढ़ जाएगा, क्योंकि अकेले इस जोन में 30 से ज्यादा आवेदन अभी पेंडिंग हैं.
मौतों का आंकड़ा बढ़ने से Death certificate बनवाने वालों की संख्या भी बढ़ी है. ऐसे में नगर निगम के कर्मचारियों पर जिम्मेदारियों का बोझ बढ़ गया है. हालांकि अफसरान यह दावा कर रहे हैं कि उनके कर्मचारी ज्यादा वक्त और छुट्टी के दिनों में भी काम करते हुए लोगों को तय वक्त पर ही Death certificate देने की कोशिश कर रहे हैं. नगर आयुक्त रवि रंजन के मुताबिक निगम के कर्मचारी महामारी के इस मुश्किल वक्त में ज्यादा समय काम करते हुए अपनी जिम्मेदारियों को बखूबी निभा रहे हैं. नगर स्वास्थ्य अधिकारी उत्तम कुमार वर्मा का कहना है कि काम भले ही पहले से कई गुना बढ़ गया हो, लेकिन आम दिनों की तरह लोगों को अब भी हफ्ते भर में ही Death certificate जारी करने की कोशिश की जा रही है.


Monika

By Monika

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *