Prayagraj: Allahabad University will provide free education to children who have lost their parents from Corona

ऐसे बच्चे जिन्होंने बारहवीं कक्षा तक की पढ़ाई पूरी कर ली है उनकी आगे की पढ़ाई का पूरा भार विश्वविद्यालय द्वारा वहन किया जाएगा. ऐसे बच्चों को अनिवार्य रूप से अपने दिवंगत माता-पिता की मृत्यु का प्रमाणपत्र प्रस्तुत करना होगा.

इलाहाबाद विश्वविद्यालय ने 12वीं कक्षा तक की पढ़ाई पूरी कर चुके ऐसे बच्चों की आगे की शिक्षा का भार स्वयं वहन करने की घोषणा की है, जिनके माता-पिता का निधन corona virus संक्रमण के कारण हो गया. ऐसे छात्र-छात्राएं अगर विश्वविद्यालय में अपना नामाकंन करवाते हैं तो उनकी पूरी फीस माफ की जाएगी.

दरसल इलाहाबाद विश्वविद्यालय की कुलपति प्रोफेसर संगीता श्रीवास्तव ने इस संबंध में प्रयागराज जिला प्रशासन को एक प्रस्ताव भेजा है, जिसमें उन्होंने लिखा है कि CORONA की दूसरी लहर ने लोगों के जीवन को बुरी तरह से प्रभावित किया है. प्रोफेसर संगीता श्रीवास्तव ने आगे लिखा है कि CORONA महामारी के कारण जिन बच्चों ने अपने माता-पिता दोनों को खो दिया है, इलाहाबाद विश्वविद्यालय उनकी आगे की पढ़ाई की पूरी व्यवस्था करेगा.

ऐसे बच्चे जिन्होंने बारहवीं कक्षा तक की पढ़ाई पूरी कर ली है उनकी आगे की पढ़ाई का पूरा भार विश्वविद्यालय द्वारा वहन किया जाएगा. ऐसे बच्चों को अनिवार्य रूप से अपने दिवंगत माता-पिता की मृत्यु का प्रमाणपत्र प्रस्तुत करना होगा. ऐसे छात्र-छात्राएं अगर विश्वविद्यालय में अपना नामांकन करवाते हैं तो उनकी पूरी फीस माफ की जाएगी.
बता दें कि इससे पहले तेजी से बढ़ रहे कोरोना संक्रमण को देखते हुए इलाहाबाद विश्वविद्यालय ने अपने हॉस्टल्स को covid ward बनाने का फैसला लिया था. विश्वविद्यालय प्रशासन ने तमाम हॉस्टल में रह रहे स्टूडेंट से hostel खाली करने की अपील की थी.


Monika

By Monika

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *