03 August “” Mother’s love in Etah was ashamed, threw the newborn in the canal and escaped after killing him

नहर में तैरता हुआ मिला नवजात शिशु का शव स्थानीय लोगों ने की निर्दयी माँ को फाँसी की सजा की करी माँग, नवाजात बच्चे को नहर में फेंककर मिटा दिया माथे पर लगा कलंक,इस आरोपी महिला ने माँ के रिश्ते को किया कलंकित,

एटा में नवजात बच्चों को फेंककर हत्या करने का सिलसिला थमने का नाम नही ले रहा है ताजा मामला जनपद के था राजा का रामपुर का है जहाँ एक कलंकित माँ अपने माथे पर लगे कलंक को मिटाने के लिए उसे नहर में नवजात को फेंककर उसकी हत्या कर फरार हो गई, जबकि हमारे देश मे जन्म देने बाली माँ का दर्जा हमेशा ऊंचा माना जाता रहा है,जबकि वही जन्म देने बाली माँ ही जब हत्यारिन बन जाये तो उसे कुमाता क्यों न कहा जाए, लेकिन देश में ऐसी घटनाऐं दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही हैं जब माता ही कुमाता बनती है, अधिकांशतह इस कुकृत्य को अंजाम या तो बदनामी के डर से बिन ब्याही मां ही अंजाम दे सकती है या फिर वो सच में कुमाता ही होगी जिसने ऐसी भीभत्स घटना को अंजाम दे डाला,जिसको लेकर स्थानीय लोगों ने निर्दयी माँ को फाँसी की सजा की माँग की है, वही ये पूरी घटना जनपद एटा के राजा का रामपुर थाना क्षेत्र में सामने आई है, जहां एक बार फिर मां कुमाता बन गई और अपने नवजात बेटे को नहर में फेंक दिया, यों तो औलाद का सुख प्राप्त करने के लिए लोग तमाम मंदिर ,मस्जिद, गुरुद्वारों पर अपना मत्था टेकते है और मिन्नतें करते है कि किसी तरह उसे अपने गर्व से उसे औलाद हो जाये जो एक सुपात्र होकर जिससे वो औलाद का सुख भोग पाए। हमें नहीं मालूम कि नहर में तैरता शव किस मासूम का है और इसके माँ – बाप कौन हैं और इसका दोष क्या है लेकिन इसका दोष सिर्फ यही है कि इसने अपनी बिन ब्याही मां की कोख से जन्म ले लिया, और कौन वो अभागन मां है जिसने इस नवजात की अपनी बदनामी के डर से इसकी जान ले ली और अपने मुंह पर पुती कालिख को इस नवजात को नहर में फेककर उसे मारकर अपने चेहरे पर लगी कालिख को साफ कर लिया, ये हम इसलिए इसे कालिख कह रहे हैं क्योंकि इस मासूम का जन्म लेना इतना बढ़ा दोष नहीं था जिसकी वजह से इसे इतनी दर्दनाक मौत मिली, अभी तो यह नवाजात सिर्फ जन्म ही ले पाया था अपने अच्छे -बुरे की इसे पहचान भी न हो सकी थी दुनियां में जिंदगी को कैसे जिया जाता है ये सवाल भी इस मासूम के मन मे मौत से पहले जरूर उठे होंगे। वही इस मासूम की मौत के जिम्मेदार मां-बाप भी खुलेआम घूम रहे होंगे,जिन्होंने अपने माथे पर लगे कलंक को हमेशा -हमेशा के लिए मिटा दिया,हालांकि पुल में तैरते नवाजात की सूचना जैसे ही इलाका पुलिस को मिली पुलिस मौके पर पहुंची और शव को कब्जे में लेकर कानूनी कार्यवाही कर रहे है। अब सवाल ये है कि कानून के लंबे हाथ इस मासूम की हत्यारन मां के गिरेबान तक पहुंच पाएंगे या नहीं या फिर थाने के दफ्तर में ही इन कलंकित माँ बाप की जुर्म की कहानी इन फाइलों में ही सिमट कर रह जाएगी।

रिपोर्ट- आर.बी.द्विवेदी एटा,09045501111,07017400063


By Monika

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *