akhilesh yadav gave advice to bjp leadership alleging unemployment and plight

सपा अध्यक्ष और UP के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने तंज कसते हुए कहा कि UP और UK दोनों राज्यों में double engine yard में खड़ा जंग खा रहा है .Samajwadi Party के अध्यक्ष और UP के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने UK और उत्तर प्रदेश में बेरोजगारी और बदहाली का आरोप लगाते हुए BJP नेतृत्व को नसीहत दी कि BJP की राजनीति की बेहतरी और दोनों राज्यों में स्थिरता की बहाली के लिए प्रदेश के मुख्यमंत्री को उत्तराखंड स्थानांतरित कर दिया जाए ताकि वहां रोज-रोज नेतृत्व परिवर्तन के झंझट से मुक्ति मिल सके.
वहीं दूसरी तरफ प्रदेश BJP अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने सपा प्रमुख पर पलटवार करते हुए कहा कि अपनी खिसक चुकी जमीन के सच को स्वीकार करने के बजाय सपा प्रमुख उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री को उत्तरखण्ड स्थानान्तरित करने की बात कह रहे हैं.
सपा मुख्यालय से जारी बयान में यादव ने कहा, ”UP और UK दोनों राज्यों में डबल इंजन यार्ड में खड़ा जंग खा रहा है. उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री के कारण लोकतंत्र चोटिल हुआ है और उत्तराखंड में लोकतंत्र अस्थिरता का शिकार हो गया है.” यादव ने तंज कसा, ”ऐसे में अच्छा होगा कि BJP की राजनीति की बेहतरी और दोनों राज्यों में स्थिरता की बहाली के लिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री को उत्तराखंड स्थानांतरित कर दिया जाए ताकि वहां रोज-रोज नेतृत्व परिवर्तन के झंझट से मुक्ति मिल सके.” सपा प्रमुख ने दावा किया, ”सच तो यह है कि UP में लोकतंत्र चाहे पाताल में समा जाए,BJP का शीर्ष नेतृत्व यहां मुख्यमंत्री बदलने की हिम्मत नहीं जुटा सकता है. जनता में बीजेपी सरकार के प्रति असंतोष बढ़ता जा रहा है. दोनों राज्यों में पलायन की समस्या समान रूप से गंभीर है. कानून व्यवस्था में गिरावट और राजनीतिक तिकड़मबाजी के चलते दोनों राज्यों में न तो पूंजी निवेश हो रहा है और न हीं नए उद्योग धंधे लग रहे हैं.”अखिलेश ने कहा, ”बीजेपी की नीतियों से उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश दोनों राज्यों में बेरोजगारी में लगातार वृद्धि हो रही है और जब से बीजेपी सत्तारूढ़ हुई विकास अवरुद्ध है. दोनों राज्यों में महंगाई और भ्रष्टाचार का बोलबाला है, स्वास्थ्य सेवाएं बदहाल हैं. महिलाओं का सम्मान के साथ जीना दूभर हो गया है. दोनों प्रदेशों में किसानों के साथ अन्याय हो रहा है. व्यापारी परेशान है. नौजवानों का भविष्य अंधकारमय है.’
यादव ने कहा कि वस्तुत: बीजेपी का लोकतांत्रिक मूल्यों के प्रति प्रारम्भ से ही अनादर का भाव रहा है और लोकतंत्र का अहित करने में उसने कोई कसर नहीं छोड़ी है. उन्होंने कहा कि जब तक उत्तर प्रदेश और UK में BJP सत्तारूढ़ रहेगी तब तक स्वस्थ लोकतंत्र की कल्पना भी नहीं की जा सकती है
वहीं पलटवार करते हुए स्वतंत्र देव सिंह ने कहा, ”सपा प्रमुख यह समझ चुके है कि राज्य में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में BJP सरकार द्वारा जन अपेक्षाओं को पूरा करते हुए किये जा रहे जनहित के कार्यों के परिणाम स्वरूप जनता का विश्वास बीजेपी के प्रति और दृढ़ हुआ है और Samajwadi Party की जमीन उत्तर प्रदेश में खिसक चुकी है.” उन्होंने कहा, ”अपनी खिसक चुकी जमीन के सच को स्वीकार करने के बजाय सपा प्रमुख उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री को उत्तराखंड स्थानांतरित करने की बात कह रहे हैं और सपा प्रमुख के बयान से लगता है कि वे भी इस सच को स्वीकार कर लिए है कि राज्य में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में 2022 में फिर से अभूतपूर्व जनसमर्थन के साथ ऐतिहासिक बहुमत वाली BJP की सरकार बनेगी और जनता एक बार फिर परिवारवाद, भ्रष्टाचार और अराजकता को नकार देगी.”


By Monika

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *