कुंवरगांव । आंवला बदायूं मार्ग पर नंदगांव के पास एक युवक ने फर्जी तरीके से मेडिकल व क्लीनिक खोलकर रखा है जहां सर्दी ,खांसी ,जुकाम ,चीरा, आपरेशन ,से लेकर मरीजों को ड्रिप लगाने का कार्य किया जा रहा है ।और यहां तक नहीं एक लेडीज डाक्टर के द्वारा गोपनीय तरीके से युवतियों और महिलाओं का गर्भपात भी कराया जा रहा है ।जिनसे मोटी रकम ऐंठी जा रही है
जानकारी के मुताबिक एक युवक ने गांव जुनइईया थाना उझानी से आकर आंवला बदायूं मार्ग पर नंदगांव के पास एक मेडीकल व क्लीनिक खोल रखा है ।जिसकी ससुराल भी नंदगांव में है । पूछने पर उसने अपना नाम विनोद बताया ।मिली जानकारी के अनुसार एक अंडर प्रैक्टिस लेडी डॉक्टर बदायूं से आकर यहां दिन में बैठती है जो अपना नाम मोना बताती हैं ।और वह बदायूं शहर में दातागंज रोड पर एक

प्राइवेट जनसेवा केंद्र हॉस्पिटल में रात्रि में कार्य करती है वह यहां आकर महिलाओं में बीमारी का समस्त प्रकार के इलाज से लेकर मैरिड अनमैरिड महिलाओं का गर्भपात भी करती है जिनसे उसे मोटी कमाई भी हो रही है ।और जब से उसने यहां क्लीनिक खोला है तब से वह चार पांच गर्भपात भी कर चुकी है उच्च अधिकारियों की आंखों में धूल झोंककर उल्टे सीधे कार्य किए जा रहे ।


गांव गांव और गलियों गलियों झोलाछाप डॉक्टर स्वास्थ्य विभाग के लिए दूध देती हुई गाय की तरह है ।जिनकी सैटिंग जिला चिकित्साधिकारी से है ।जो कि गांव में मरीजों को वोतल लगाने से लेकर चीरफाड़ का कार्य जोरों पर कर रहे हैं ।लेकिन ‌स्वास्थय विभाग अनजान बना हुआ बैठा है।देहात क्षेत्र में ज्यादातर टेस्टिंग लैब भी फर्जी तरीके से चल रहा हैजिस का चार्ज लगभग प्रति मरीज 200 रुपये लिया जाता है जिसमे 50 रु झोलाछाप डॉक्टर का रहता है झोला छाप डॉक्टर स्वास्थ्य विभाग के लिए किसी चुनौती से कम नही है जिससे यह प्रतीत होता है कि कहीं न कहीं इसमें स्वास्थ्य विभाग का भी कुछ हिस्सा रहता है तभी स्वास्थ्य विभाग अपनी आंखें मूंदे हुए बैठा है।कुंवरगांव क्षेत्र में लगभग दो दर्जन से अधिक फर्जी लैब और क्लीनिक चल रहे हैं जिससे यह फर्जी लैब और क्लीनिक एक प्रकार से स्वास्थ्य विभाग के मुंह पर तमाचा लगने जैसा है।

इस संबंध में मुख्य चिकित्साधिकारी विक्रम सिंह पुंडीर का कहना है कि अगर कहीं ऐसा हो रहा है तो उसके खिलाफ कठोर कार्यवाही की जाएगी।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *