Etah: The havoc of land mafia on the land and government ponds and temples

उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भू माफियाओं पर कितना ही शिकंजा कियों ना कस लें , लेकिन भू माफिया सरकारी जमीनों व सरकारी तालाबों औऱ मंदिरों पर कब्जा करने से रुकने का नाम नही ले रहे है,

ताजा मामला जनपद एटा के थाना सकीट कस्बा में चपरई रोड़ शेखपुरा का है जहां पर वहां के स्थानीय लोगों ने दबंग भूमाफिया अबिलाख सिंह यादव पर सरकारी तालाब और गमा देवी के मंदिर पर अवैध कब्जा करने का आरोप लगाया है,और जब स्थानीय लोग इस अवैध कब्जे का विरोध करते है तो दबंग भू माफिया विरोध करने वाले लोगों को ही जान से मारने की धमकी देते हैं। वहीं स्थानीय लोगों ने “”अपनी पार्टी सेकुलर”” पार्टी के बैनर तले कलेक्ट्रेट के धरना स्थल पर पार्टी के कार्यकर्ताओं सहित स्थानीय ग्रामीण आज इस भू माफिया के खिलाफ धरना देने वाले थे तभी अपनी पार्टी सेकुलर के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रदीप सिंह चौहान की आज अचानक तवियत खराब होने के चलते धरना में नहीं आ पाए इसको लेकर पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष बृजेश लोनिया चौहान ने स्थानीय पीड़ित लोगों के साथ जाकर एडीएम प्रशासन विवेक मिश्रा को ज्ञापन सौंपा है और प्रदेश उपाध्यक्ष ने जिला प्रशाशन को चेतावनी देते हुए कहां है कि इससे पहले भी वो उन्हें कई बार सरकारी तालाब और गमा देवी मंदिर के कब्जे की जिला प्रशासन से शिकायत कर चुके है लेकिन जाँच के नाम पर टालमटोल कर टाल दिया गया और अभी तक इन दबंग भू माफियाओं के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई, आज हम आपको फिर से ज्ञापन सौंप रहे है इसमें जल्द से जल्द भू माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई कर सरकारी तालाब की जमीन को कब्जा मुक्त कराया जाए और राजश्व टीम द्वारा तहसील के अबिलेखों में की गई फर्जी प्रवष्टि को तत्काल प्रभाव से निरस्त कर भू माफियाओं के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएं, यदि इन भू माफियाओं के खिलाफ कार्यवाही नही की गई तो हम सभी ग्रामीण वासी धरना पर बैठने को विवश होंगे जिसकी सारी जिम्मेवारी जिला प्रशासन की होगी।

रिपोर्टर- आर.बी.द्विवेदी एटा।


By Monika

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *