Etawah: During the three-day visit, the welfare program of women prisoners organized in the district jail today.

राज्यपाल ,श्रीमती आनंदीबेन पटेल द्वारा जनपद के तीन दिवसीय भ्रमण के दौरान आज जिला कारागार में आयोजित महिला बंदियों के कल्याण कार्यक्रम में जेल में निरूद्ध महिला बन्दियों से कहा कि ज्यादा उग्रता के कारण अधिक घटनायें घटित होती है।उन्होंने जनपद इटावा में आज घटित घटना का उदाहरण देते हुए कहा कि अगर इसका पहले समाधान हो जाता है तो यह घटना नहीं होती।इस घटना का समाधान न होने के कारण यह घटना को अंजाम दिया गया है।
उन्होंने कहा कि अब कारागारों में काफी परिवर्तन हुए है और बन्दियों को भी कारागार में बहुत सुविधायें मिल रही हैं,पहले जेल में बन्दियों को एक ही कोठरी में बन्द कर दिया जाता था परन्तु अब ऐसा नहीं है।
राज्यपाल द्वारा इस अवसर पर जेल में निरूद्ध महिला बंदियों से संवाद कर जेल में आने के संबध में जानकारी की जिस पर अधिकांश द्वारा बताया गया कि दहेज उत्पीड़न के कारण जेेल में बन्द है।उन्होंने जेल में निरूद्ध महिला बन्दियों से कहा कि संकल्प लें कि सजा की अवधि पूर्ण होने के बाद जब अपने घर जाएं तो अपराध की तरफ न आएं बल्कि गांव में दूत बनकर यह सन्देश दें कि न तो दहेज लेगें और न ही दहेज देंगे।उन्होंने जेल में निरूद्ध महिला बन्दियों को उपयोग के लिए सेनेटरी पैड बैंडिंग मशीन,सेनिटरी पैड इनसिनरेटर भेंट की एवं उनके साथ रह रहे बच्चों को फल,पढ़ाई लिखाई के लिए लेखन सामग्री आदि अपने कर कमलों से प्रदान की।इस अवसर पर विधायक सदर सरिता भदौरिया,विधायक भरथना सावित्री कठेरिया,जिलाधिकारी श्रुति सिंह,वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डा.बृजेश कुमार सिंह,अपर जिलाधिकारी जय प्रकाश,जिला कारागार अधीक्षक राज किशोर सिंह सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

इटावा से शारिक अंसारी की रिपोर्ट


By Monika

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *