Kanpur: IIT Kanpur scientists claim – there is every possibility of third wave of corona virus coming

आईआईटी कानपुर के वैज्ञानिकों का दावा है कि CORONA की तीसरी लहर आने की पूरी आशंका है. जिससे बचाव करना आम लोगों के हाथ में हैं.COVID नियमों का जितने अच्छे से पालन करेंगे, उतना ही बीमारी से लड़ने में सक्षम हो सकेंगे.

CORONA की संभावित तीसरी लहर पर IIT KANPUR ने रिसर्च के बाद मुहर लगा दी है. यह बात आईआईटी कानपुर के प्रोफेसर राजेश रंजन और प्रो महेंद्र वर्मा ने अपने गणितीय MODAL के ज़रिए बताई है. अनुमान लगाने वाले प्रोफेसर का कहना है कि बीमारी का पीक जितना देरी से आएगा उतना ही लोगों को Vaccinate होने का मौका मिल जाएगा. जितने ज्यादा लोगों को वैक्सीन लग जाएगी कोरोना से नुक्सान उतना ही कम होगा. IIT Professor Rajesh Ranjanका कहना है कि MODAL के माध्यम से दूसरी लहर की महामारी के मापदंडों को लेकर रिपोर्ट तैयार की है.
इस REPORT में तीन महत्वपूर्ण बातें निकल कर सामने आई हैं. ऐसा माना जा रहा है कि 15 जुलाई तक पूरा देश अनलॉक हो जाएगा. यह ठीक वैसे ही स्थिति होगी जैसी कि इस साल जनवरी में थी. जनवरी में सभी कुछ अनलॉक हो गया था, लेकिन यदि इस बार अनलॉक होने पर अगर हम सावधानी नहीं बरतते हैं, Social Distancing के नियमों का पालन नहीं करते हैं और MASK नहीं लगाते हैं तो कोरोना की तीसरी लहर का पीक अक्टूबर तक आ सकता है. यही नहीं जानकर भी इस बात को मान रहे हैं.

पहला पहलू ये है कि सितंबर से स्थितियां खराब होना एकबार फिर शुरू हो जाएंगी और अक्टूबर तक इसकी भयावहता काफी होगी. दूसरा चरण है कि अगर CORONA तीसरी लहर में बदले म्युटेंट के साथ आता है और लोग सावधानी भी नहीं बरतते तो इसका पीक सितंबर तक आ जाएगा. यानी कि अगस्त से स्थितियां खराब होनी शुरू हो जाएंगी. तीसरा चरण है कि अगर लोग सावधानी बरतते हैं, मास्क लगाने के साथ वैक्सीन लगवा लेते हैं तो ऐसी स्थिति में तीसरी लहर का पीक नवंबर तक आएगा.
दरसल प्रोफ़ेसर राजेश कहते हैं कि ऐसी स्थिति में लोगों को VACCINE लगवाने का भी समय मिल जाएगा. उन्होंने कहा कि जितनी जल्दी ही वैक्सीन लगवा लें, ये बचाव में सहायक है.


Monika

By Monika

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *