Mayawati demanded separate census of OBC, know the whole matter

देश में जातिगत आधारित जनगणना की मांग के बीच BSP supremo Mayawati ने भी ओबीसी की अलग जनगणना की मांग की है. पूर्व CM मायावती ने इस मुद्दे पर केंद्र सरकार को समर्थन देने की भी बात कही है. मायावती ने शुक्रवार को कहा कि देश में ओबीसी समाज की अलग से जनगणना कराने की मांग पर केंद्र सरकार अगर कोई सकारात्मक कदम उठाती है तो बसपा संसद के अन्दर व बाहर भी इसका जरूर समर्थन करेगी.
दरअसल मायावती ने Tweet किया, “देश में OBC समाज की अलग से जनगणना कराने की मांग BSP शुरू से ही करती रही है तथा अभी भी BSP की यही मांग है और इस मामले में केंद्र की सरकार अगर कोई सकारात्मक कदम उठाती है तो फिर बसपा इसका संसद के अन्दर व बाहर भी समर्थन जरूर करेगी.”

बता दे अभी हाल ही में बिहार के Chief Minister Nitish Kumar ने देश में जातिगत जनगणना कराए जाने की मांग की थी. CM Nitish ने इसको लेकर पीएम नरेंद्र मोदी को एक चिट्ठी भी लिखी है.
देश में आखिरी जाति आधारित जनगणना आजादी से पहले साल 1931 में हुई थी. इसी आंकड़े के आधार पर बताया गया है कि देश में OBC आबादी 52 फीसदी है. जाति के आंकड़ों के बिना काम करने में मंडल आयोग को काफी दिक्कत आई और उसने सिफारिश की थी कि अगली जो भी जनगणना हो उसमें जातियों के आंकड़े इकट्ठा किए जायें.


By Monika

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *