Mayawati took a jibe at SP President Akhilesh Yadav

मायावती ने शुक्रवार को कहा कि सपा का छोटे दलों के साथ गठबंधन करना महालाचारी है.up में विधानसभा चुनाव में कुछ ही महीनों का समय रह गया है. चुनाव नजदीक आते ही विभिन्न दलों के नेताओं के बीच जुबानी जंग तेज हो गई है. हाल ही में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने छोटे दलों के साथ गठबंधन करने का ऐलान किया था. bsp supremo मायावती ने अब इसी को लेकर अखिलेश यादव पर तंज कसा है.

मायावती ने शुक्रवार को कहा कि सपा की सोच स्वार्थी, संकीर्ण और दलित विरोधी है. इसलिए बड़े दलों ने सपा से किनारा कर लिया है. उन्होंने आगे कहा कि छोटे दलों के साथ चुनाव लड़ना सपा की महालाचारी है.साथ ही मायावती ने tweet कर सपा को घेरा. उन्होंने कहा, “Samajwadi Party की घोर स्वार्थी, संकीर्ण व खासकर दलित विरोधी सोच एवं कार्यशैली आदि के कड़वे अनुभवों तथा इसकी भुक्तभोगी होने के कारण देश की अधिकतर बड़ी व प्रमुख पार्टियां चुनाव में इनसे किनारा करना ही ज़्यादा बेहतर समझती हैं, जो सर्वविदित है.”उन्होंने अपने अगले ट्वीट में कहा, “इसीलिए आगामी up विधानसभा आमचुनाव अब यह पार्टी किसी भी बड़ी party के साथ नहीं बल्कि छोटी पार्टियों के गठबंधन के सहारे ही लड़ेगी. ऐसा कहना व करना सपा की महालाचारी नहीं है तो और क्या है?”

बता दें कि अपने जन्मदिवस के दिन अखिलेश यादव ने कहा कि सपा छोटे दलों के साथ गठबंधन करेगी. इसके साथ ही उन्होंने बीजेपी पर निशाना भी साधा. अखिलेश ने कहा कि bjp असल मुद्दों पर बहस से भागती है. बेरोजगारी, महंगाई के विषयों पर बात नहीं करती.


By Monika

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *