Monsoon’s first rain became a disaster for the people of Smart City

उत्तर प्रदेश सरकार ने भले ही मुरादाबाद जिले को स्मार्ट सिटी घोषित कर दिया लेकिन मानसून की पहली बारिश से शहर के बने हालात तो कुछ और ही बया कर रहे है। ऐसा लगता है कि जिस स्मार्ट सिटी के दावे प्रशासन, नगर निगम व मु0वि0प्रा0 करते दिखाई देते है वो दावे सिर्फ कागजों पर ही दिखाई देते है जबकि हकीकत उसके विपरीत है।
स्मार्ट सिटी की सच्चाई जानने के लिए CNN News Bharat की टीम जब शहर में निकली तो सड़को पर जगह जगह पानी भरा मिला थाना गलशहीद के मुख्य चौराहे पर तो पानी भरने की वजह से सड़क के बीचों बीच गड्डा बन गया जिसमें एक स्कूटी सवार गिरा दिखाई दिया कुछ क्षेत्रों में तो स्थिति इतनी खराब थी कि वहाँ से लोगों का निकलना मुश्किल था । वहीं पाश कॉलोनियो में माने जाने वाले रामगंगा विहार का हाल तो शहर से भी ज्यादा खराब दिखाई दिया।
जबकि मौसम विभाग ने पहले ही सूचना जारी कर दी थी कि इस बार मानसून अपने समय से पहले आ रहा है और बारिश भी ज्यादा होगी और आज सुबह से ही झमाझम बारिश शुरू होने से शहर के सभी मोहल्लों में जलभराव की समस्या उत्पन्न होने से लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा वहीं निचले क्षेत्रों में नालियों की सफाई ना होने के कारण जलभराव की समस्या ने नगर निगम और प्रशासन की पोल खोल दी है बारिश में जल निकासी की समस्या से निपटने के लिए प्रशासन व नगर निगम को पहले से ही तैयारी करनी चाहिए थी लेकिन प्रशासन व नगर निगम दोनों ही सोए रहे इस कारण लोगों को जलभराव का सामना करना पड़ रहा है।
पहली बारिश से शहर का ये हाल है तो आने वाले दिनों में जब मानसून अपने शबाब पर होगा तो होने वाली स्थिति की कल्पना भी नही कि जा सकती ।
अगर समय रहते नगर निगम अधिकारियों द्वारा पानी निकासी और नालो की सफाई ना कराई गयी तो जिस स्मार्ट सिटी की सपना आप और हम संजोये हुए है वो कभी पूरा हो।

मुरादाबाद से कपिल अग्रवाल और गिरीश यादव के साथ सुमित कुमार की रिपोर्ट


Monika

By Monika

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *