New changes will come in banks from July 1, what will be the new rules, know

एक जुलाई से BANK के charges में बड़े बदलाव होने वाले हैं. Check Book, ATM से निकासी, IFSC कोड तक बदले जाएंगे. बैंकिंग एक्सपर्ट ने इस बारे में कई जरूरी जानकारी दी जो आपके लिये बेहद अहम हैं.
अगर आपका बैंक में खाता है और आप बैंक के द्वारा लेन देन करते हैं तो जान ले क्योंकि एक जुलाई से बैंकिंग सेक्टर में काफी कुछ बदलने जा रहा है और इस बदलाव से आपकी जेब पर कितना असर पड़ेगा।
Banking Expert Dr Yamini Agarwal ने बताया कि, कल यानी 1 जुलाई से बैंकिंग में काफी कुछ बदलने जा रहा है. जिसमे एटीएम से कैश निकासी से लेकर बैंक के transaction को लेकर चार्ज बढ़ाया जायेगा, साथ ही चेक बुक भी लेना महंगा होगा.
इतना ही नहीं, कई बैंकों के IFSC नंबर भी कल से बदल जाएंगे जिसके बाद आपकी पुरानी चेक से लेन देन भी नहीं होगा. आपको लेन देन लिए नई चेकबुक लेनी होगी, तभी आप बैंक से लेनदेन कर सकेंगे. इसके पीछे की वजह बैंकों का मर्ज होना बताया जा रहा है.
वही, जो छूट आपको ATM निकासी में मिली थी, कोरोना महामारी के दौरान वो भी कल से समाप्त हो जायेगी और अब एक माह में सिर्फ 3 बार ही एटीएम से निकासी कर सकते है. अगर अपने बैंक के एटीएम से ही कैश निकासी कर रहे हैं, तो 4 बार कर सकते है. इससे ज्यादा करेगे तो प्रत्येक कैश निकासी पर अतिरिक्त चार्ज देना पड़ेगा.
एक्सपर्ट की मानें तो ये बढोत्तरी इसलिए की जा रही है, क्योंकि आरबीआई ने बैंकिंग के कई क्षेत्रों में बढ़ोत्तरी की है. जिसकी वजह से बैंक भी चार्जेजे बढ़ा रहे हैं. लेकिन एक्सपर्ट की माने तो ये वक्त चार्ज बढ़ाने के लिए मुनासिब नहीं है क्योंकि पहले से ही लोग कोरोना महामारी से परेशान हैं. लोगों की नौकरियां जा रही हैं, ऐसे में अतिरिक्त चार्ज से आम जनता और महंगाई की मार से जूझेगी.
CORONA काल में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने ऐलान किया था कि, कोई भी बैंक में बचत खाते की अनिवार्यता नहीं होगी. यह आदेश अप्रेल से जून महीने तक के लिए था. ऐसे में खाते में मिनिमम बैलेंस ना होने पर भी लोगों को किसी तरह का जुर्माना नहीं चुकाना था. लेकिन अब 30 जून को इस फैसले की मियाद खत्म होने वाली है और 1 जुलाई से सीधा असर आप पर होने वाला है.
एक जुलाई से चेकबुक पर भी charge बढ़ा दिया जायेगा. जिसका सीधा असर आप पर पड़ने वाला है. चेकबुक चार्ज सेविंग व करेंट दोनों खाता धारकों को पे करना होगा. यानी कुल मिलाकर ये कहा जा सकता है कि कल से बैंकिंग भी महंगी हो जायेगी जिसके लिए आपको ध्यान देना होगा कि आवश्यकता पड़ने पर ही cash के लेनदेन करे.


By Monika

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *