बरेली 16 मई। मंडलायुक्त श्री आर. रमेश कुमार ने कहा कि बरेली शहर में जहां भी स्मार्ट सिटी के कार्य चल रहे हैं, वहां पर एक बोर्ड लगाया जाए जिस पर कार्य का विवरण अंकित होना चाहिए कि कार्य कब पूरा होगा, कब शुरु हुआ कौन ठेकेदार करा रहा है आदि।


कमिश्नरी सभागार में आयोजित स्मार्ट सिटी परियोजना के निदेशक मंडल की बैठक की अध्यक्षता करते हुए मंडलायुक्त ने कहा कि निर्माणाधीन कार्यों के बारे में विवरण पट्टिका लग जाने से यह ज्ञात होता रहेगा कि कहां पर काम हो रहा है। वहां के लोग इससे अनभिज्ञ नहीं रहेंगे कि उनके क्षेत्र में स्मार्ट सिटी का क्या कार्य हो रहा है। बैठक में महापौर डॉ. उमेश गौतम, ज़िलाधिकारी श्री नितीश कुमार, नगर आयुक्त और स्मार्ट सिटी परियोजना के सीईओ श्री अभिषेक आनंद, बरेली विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष श्री जोगिंदर सिंह के अलावा अन्य अधिकारी भी बैठक में मौजूद रहे।


बैठक में आज जिन कार्यों का टेंडर करने के लिए हरी झंडी दी गई उनमें पटेल चौक पर स्काई वॉक का निर्माण प्रमुख है जिसकी लागत करीब 10 करोड़ की आएगी। यह अपने आप में एक अनूठा कार्य होगा। वहां करीब तीन मीटर ऊंचा एलीवेटेड रूट बनेगा। इसके अलावा मेथोडिस्ट चर्च, नगर निगम तथा कोतवाली की इमारतों पर फसाड लाइट लगाने पर भी निदेशक मंडल ने सहमति दी। फसाड लाइट लगने से शाम को इन इमारतों की ख़ूबसूरती निखर जाएगी। इसके टेंडर की प्रक्रिया तत्काल शुरु की जाएगी। इसके साथ ही सुभाष नगर पुलिया पर रेलवे ओवर ब्रिज के लिए भी टेंडर करने पर सहमति व्यक्त की गई। गांधी पार्क में लाइट एंड साउंड कार्यक्रम के कार्य के लिए भी आज सहमति व्यक्त की गई।


बैठक में ज़िलाधिकारी श्री नितीश कुमार ने कहा कि इन कार्यों की गुणवत्ता का प्रत्येक स्तर पर निरीक्षण एवं अनुश्रवण किया जाएगा। कार्यदायी संस्थाएं यह ध्यान रखें कि स्मार्ट सिटी के कार्यों की गुणवत्ता के साथ कोई समझौता नहीं होने दिया जाएगा। बैठक में इस बात पर भी सहमति व्यक्त की गई कि सभी कार्यों के लिए नियमित रूप से बैठकें आयोजित कर शेष कार्यों को जल्दी ही पूरा करने के प्रयास किए जाएं।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *