The hand grenades, and bullets and hands put on the honor of the woman proponent in the election of the block chief, the police kept watching standing

UP के जिला लखीमपुर खीरी में इंसानियत उस समय मर गयी जब ब्लॉक प्रमुख के चुनाव में महिला प्रस्तावक के साथ सारे राह प्रशासन की आंखों के सामने उसकी इज़्ज़त पर विपक्ष के लोगो ने हाथ डाला । एक तरफ तो योगी सरकार महिलाओं की सुरक्षा और उनके सम्मान को लेकर बड़े बड़े दावे करती नज़र आती है उनकी सुरक्षा को लेकर सभी थानों में महिला हेल्प डेस्क बनाई गई है वही दूसरी तरफ उनके राज्य में ही महिलाओं को इस तरह सड़क पर बेइज़्ज़त किया जा रहा है।
लखीमपुर खीरी में होने वाले ब्लॉक प्रमुख के चुनाव में उस समय हंगामा हो गया जब समाजवादी पार्टी से उम्मीदवार श्रीमती ऋतु सिंह अपने कार्यकर्ताओं के साथ अपना नामांकन कराने पहुँची तो विपक्ष के लोग उनका विरोध कर नारेबाजी करने लगे।हंगामा होते देख समाजवादी पार्टी के लोग भी नारेबाजी करने लगे और देखते ही देखते दोनों पक्षों के लोग आमने सामने आ गये। विपक्ष के लोगों ने उम्मीदवार ऋतु सिंह की महिला प्रस्तावक अनीता यादव के साथ बतमीजी शुरू कर दी हद तो तब हो गई जब विपक्ष के लोग उनकी साड़ी उतारने की कोशिश करने लगे, बड़ी मुश्किल से उन्होंने अपनी इज़्ज़त बचायी। उसके बाद मामले ने तूल पकड़ लिया औऱ दोनों पक्षों के द्वारा गोलियां व हथगोले चलाये गए। ये पूरी घटना पुलिस प्रशासन के आंखों के सामने होती रही और पुलिस प्रशासन मूक बधिर की तरह देखता रहा। चुनावों में ऐसी घटनाओं का होना अब आम बात हो गयी अभी हाल में जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनावों में भी ऐसी ही कई घटनाएं देखने को मिली थी।
इन घटनाओं को रोकने की जिम्मेदारी किस की है?? इस बात की गंभीरता को सभी को समझना होगा। इस प्रकार की घटनाओं की पुनरावृत्ति माननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी और सभी प्रशासनिक अधिकारियों के लिये चिंतन का विषय है। भविष्य में ऐसी शर्मसार करने वाली घटनाओं को रोका जा सके इसके लिए योगी सरकार को सख्त कदम उठाने होंगें जिससे प्रदेश की सभी महिलाएं व जनता अपने आप को सुरक्षित महसूस कर सके।

संवाददाता कपिल अग्रवाल के साथ सुमित कुमार की रिपोर्ट


By Monika

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *