The third wave of Corona is likely to come by October-November.

IIT के Professor Manindra Agarwal ने गणितीय विश्लेषण ‘सूत्र’ के आधार पर दावा किया है कि तीसरी लहर दूसरी लहर से कम घातक होगी. उन्‍होंने तीसरी लहर के अक्टूबर-नवबंर के बीच आने की संभावना जताई है.
IIT Kanpur के प्रोफेसर मणींद्र अग्रवाल ने बताया कि तीसरी लहर के आकलन के लिए हमने पिछले एक महीने में अपने model के जर‍िए काफी गणना की है. इसमें यह निकल कर सामने आया है कि तीसरी लहर इतनी प्रभावशाली नहीं है, जितनी दूसरी लहर थी. इसमें हमने तीन सेनेरियों बनाए हैं. यदि कोई नया वेरिएंट अगस्त के अंत तक आ जाता है, जो Delta Variants से भी ज्यादा तेजी से फैलने वाला है तो तीसरी लहर अक्टूबर-नवंबर के समय में आएगी. तीसरी लहर पहली लहर के बराबर होगी.
Professor ने बताया कि भारत में डेल्टा वेरिएंट की वजह से तीसरी लहर आएगी, इसकी संभावना कम लग रही है. यदि भारत मे कोई नया Variants आता है, जो Delta Variants से भी ज्यादा तेजी से फैलने वाला हो, तब कुछ हद तक आने की संभावना है. अपनी गणना में हमने दो बातों का ध्यान रखा है. पहला यह क‍ि जो लोग संक्रमित होकर ठीक हो चुके हैं. उनमें से कुछ लोगों की immunity समाप्त हो जाती है. पिछली साल की कई स्टडी में निकलकर सामने आया है. 5 से 20 फीसदी लोगों की immunity खत्म हो जाती है. जिसकी वजह से दोबारा संक्रमित होने की संभावना होती है.


Monika

By Monika

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *