Tree plantation campaign started Yogi government planted 100 crore saplings in last four and a half years

Uttar Pradesh में एक जुलाई से वृहद वृक्षारोपण अभियान की शुरुआत हुई. खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वृक्षा रोपण अभियान की शुरुआत राजधानी Lucknow में की. इसी अभियान के तहत पूरे प्रदेश में 25 करोड़ से ज्यादा वृक्ष एक साथ लगाए गए जो एक RECORD है.
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूर्वांचल expressway के किनारे सुल्तानपुर में वृक्ष लगाया तो वहीं राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने झांसी में वृक्षारोपण अभियान के तहत वृक्ष लगाया. बीते साढ़े 4 साल में उत्तर प्रदेश की YOGI सरकार प्रदेश में 100 करोड़ वृक्ष लगा चुकी है.दरअसल रविवार को जब मुख्यमंत्री ने सुल्तानपुर में वृक्ष लगाया तो वो सौ करोड़वां वृक्ष था. इतना ही नहीं CORONA काल में जिन लोगों की जान चली गई उनकी याद में भी पेड़ प्रदेश के अलग-अलग जिलों में लगाए गए.
इस दौरान सरकार के सभी मंत्री अपने-अपने प्रभार वाले जिलों में मौजूद रहे और वहां पर वृक्षारोपण कार्यक्रम में शामिल हुए. वन मंत्री दारा सिंह चौहान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ सुल्तानपुर में मौजूद रहे. Lucknow के प्रभारी मंत्री सुरेश खन्ना ने राजधानी में वृक्ष लगाया. Deputy CM Keshav Prasad ने भी राजधानी लखनऊ में PWD के डिपो में वृक्ष लगाया. कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य कुशीनगर में वृक्ष लगाया.
25 करोड़ वृक्ष लगने का लक्ष्य पूरा होने के बाद वन मंत्री दारा सिंह चौहान ने LUCKNOW में press conference की. उन्होंने 100 करोड़ वृक्ष लगाने को अपनी सरकार की उपलब्धि बताया. उन्होंने कहा कि जब से BJP सरकार बनी है प्रदेश में 100 करोड़ वृक्ष लगाए जा चुके हैं और यह पूरी दुनिया में एक RECORD है. उन्होंने बताया कि साढ़े 4 साल में उत्तर प्रदेश में forest cover area भी बढ़ा है. साथ ही GPS Tracking से वृक्षों की monitoring हो रही है. ऐसा नहीं है कि केवल पेड़ ही प्रदेश में लगाए जा रहे हैं बल्कि उनका रखरखाव भी किया जा रहा है. इसीलिए forest guard भी तैनात किए गए हैं. उन्होंने कहा कि 2017 से लेकर अब तक हमने 100 करोड़ पौधे लगाए हैं, पूरी दुनिया मे ये एक उदाहरण है. आज 25 करोड़ से ज्यादा वृक्ष एक दिन में लगाये गए हैं. दारा सिंह चौहान ने कहा कि 7 जुलाई तक चलने वाले इस वृक्षारोपण अभियान के तहत जब 30 करोड़ पौधा रोपण हो जाएगा. इससे भविष्य में प्रदेश में 12.50 करोड़ नागरिकों की OXYGEN की जरूरत के लिए ये पर्याप्त होगा. वहीं प्रदेश में 18,878 स्मृति वाटिका की स्थापना करके कोविड महामारी से बिछड़े प्रियजनों की याद में पौधरोपण किया गया. प्रदेश में 75 जिलों में 28 प्रजातियों के 947 विरासत वृक्षों का चिन्हीकरण करके उनका संरक्षण किया जा रहा है. राम वन गमन मार्ग में रामायण काल की प्रजातियों के पौधौं का रोपण किया जा रहा है.


By Monika

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *