Two lives were saved by the kindness of the Superintendent of Police of Bijnor district

सड़क दुर्घटना में घायल तड़पते लोगों को पहुँचाया अस्पताल दुर्घटना के बाद पुलिस अधीक्षक का गुजर रहा था काफिला मौजूदा भीड़ द्वारा की जा रही फोटोग्राफी पर दी नसीहत जनपद बिजनौर के पुलिस अधीक्षक के रहमोकरम और दरियादिली से दुर्घटना में घायल दो लोगों को समय पर अस्पताल पहुँचाए जाने से जिन्दगी बच गयी

बताते चलें की पुलिस अधीक्षक बिजनौर का काफिला किसी आवश्यक कार्य से सड़क मार्ग से जा रहा था तभी थाना किरतपुर क्षेत्र अंतर्गत नहर की पुलिया के पास किसी अज्ञात वाहन द्वारा बाइक सवार दो बाबा टाइप व्यक्तियों को टक्कर मार देने से दोनों ही व्यक्ति बुरी तरह घायल होकर तड़प रहे थे घटनास्थल पर मौजूद भीड़ ने सिर्फ 102 और 108 नं.पर फोन करके अपनी जिम्मेवारी से पल्ला झाड़ लिया था फोटोग्राफी करने में लगे थे उसी दरमियान पुलिस अधीक्षक महोदय की गाड़ी निकली
इस घटना को देख कर तत्काल एक्शन लेते हुए अपने हमराह पुलिस बल के साथ ही स्वयं दरियादिली का परिचय देते हुए अपने वाहन से दोनों घायलों को अस्पताल पहुंचाया जहां डॉक्टरों ने बताया कि जिस तरह से इनकी ब्लीडिंग हो रही थी काश और कुछ देर हो जाती तो शायद जाने जा सकती थी।

बिजनौर से कपिल अग्रवाल और दिलीप सक्सेना के साथ अवनीत चौहान की रिपोर्ट


By Monika

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *