Yogi government presented a supplementary budget of 7 thousand crores…

UP की YOGI सरकार ने मानसून सत्र के दूसरे दिन विधानसभा में अनुपूरक बजट पेश कर दिया है. प्रदेश के वित्त मंत्री Suresh Khanna ने बुधवार को अनुपूरक बजट पेश किया. अनुपूरक बजट पेश करने से पहले विपक्षी दलों का हंगामा देखने को भी मिला. विपक्षी दलों ने महंगाई, बेरोजगारी जैसे मुद्दे पर प्रदर्शन किया. SP नेता ramgovind chaudhary ने कहा कि प्रदेश में महंगाई record स्तर पर है.
प्रदेश सरकार ने वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए बुधवार को विधानसभा में 7301.52 करोड़ रुपये का अनुपूरक बजट पेश किया. वित्त मंत्री Suresh Kumar Khanna ने अनुपूरक बजट प्रस्तुत करते हुए कहा कि यह 7301.52 करोड़ रुपये का बजट है जो मौजूदा वित्तीय वर्ष के लिए निर्धारित पांच LAKH 50 हजार करोड़ रुपये के वार्षिक बजट का 1.33 फीसद है. उन्होंने कहा कि यह बहुत छोटा अनुपूरक बजट है और इसमें खासतौर पर उन बातों पर ध्यान दिया गया है जो अत्यंत जन कल्याणकारी हैं या किसी-किसी योजना को पूरा करने के लिए हैं.
दरअसल वित्त मंत्री ने कहा कि इसमें कुछ नई मांगे भी हैं. खासतौर से युवाओं के लिए रोजगार के अवसर सृजन करने के लिए 3000 करोड़ रुपए की व्यवस्था की गई है. गन्ना मूल्य का भुगतान, अधिवक्ताओं के लिए सामाजिक सुरक्षा निधि, Ambedkar स्मारक तथा सांस्कृतिक केंद्र का निर्माण, आंगनबाड़ी, आशा कार्यकर्ताओं तथा चौकीदारों के लिए मानदेय में वृद्धि, विद्युत व्यवस्था में सुधार, गोवंशीय पशुओं का रखरखाव और अयोध्या में सुविधाओं और पार्किंग की व्यवस्था और साथ ही साथ मूलभूत ढांचा में वृद्धि जैसी कुछ मुख्य बातें अनुपूरक बजट में शामिल हैं.
खन्ना ने कहा कि इस पर विस्तृत चर्चा तो कल होगी, लेकिन हम विशेष रूप से कहना चाहते हैं कि कि इस साढ़े चार साल की सरकार में जनता का नजरिया बदला है. लोक दृष्टि सबसे बड़ा मानदंड होता है किसी भी सरकार के मूल्यांकन का और आज जनता की आवाज की उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने नए RECORD बनाए हैं और पुराने कई RECORD को तोड़ा भी है. इसलिए मैं पूरे सदन से अनुरोध करना चाहता हूं कि यह मात्र 1.33 प्रतिशत का अनुपूरक बजट है. अगर बिना चर्चा के ही सभी इसे पारित कर दें तो बहुत अच्छा रहेगा.


By Monika

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *